Posted in Biography Information inspirational women

मातृशक्ति के निर्भीक नेतृत्व ने, आत्मविश्वास की ज्योत को किया प्रज्वलित

वैसे देखा जाए तो समाज में सकारात्मक बदलाव लाने के प्रयास में ‘अखिल भारतीय किरार क्षत्रिय महासभा ‘ की अध्यक्षा श्रीमती साधना जी ने अपनी…

और पढो...
Posted in Information

संतुलित आत्मानुशासन ही, समाज की प्रगति सुनिश्चित करता

समाज की प्रगति में संतुलित आत्मानुशासन का होना सबसे महत्वपूर्ण है! जो समाज को पूर्णता की और ले जाने का मार्ग तय करता है! आक्रोशित…

और पढो...
Posted in Information

हठधर्मिता समाज की दृष्टि ,घृणास्पद हो रही है!

वर्तमान में अखिल भारतीय धाकड़ महासभा, तो बिल्कुल ही निष्क्रीय हो चुकी है! महासभा, का कार्यकाल सिर्फ तीन वर्ष का होता है, लेकिन राजनीतिक हठधर्मिता…

और पढो...
Posted in Information inspirational

धैर्य व संयम से ही, समाज का एकीकरण संभव ?

समाज सेवा में सफल होने के लिए दृढ़प्रतिज्ञ होना बेहद जरूरी है! सामाजिक चुनौतियां और मुश्किलें रास्ते में बाधक बनती है,लेकिन इनको हल करने के…

और पढो...
Posted in Events Information

किराड़ किरात मैट्रिमोनियल (परिचय )

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। समाज में रहना समाज में पालना , समाज कार्य में आना जाना करता है। मनुष्य कभी अकेला नहीं रह सकता।उससे…

और पढो...
Posted in Biography Information inspirational women

भयावह त्रासदी के दौर में किया गया सहयोग, इंसानियत के लिए,किसी वर्दान से कम नहीं?

संकट के इस चुनौतीपूर्ण दौर में मन चिंतायुक्त और भयप्रद हो, ऐसे वक्त पर कोई संवेदनशील व्यक्तित्व तटस्थ हो कर, सेवा का भाव लिए खड़ा…

और पढो...
Posted in Events Information inspirational memory

माँ, की स्मृति को सदा याद रखने के लिए, समाज को दी आदर्श प्रेरणा

वर्तमान संकटमय त्रासदी कोविड -19 के दौर में माँ, गीता देवीजी का असामयिक निधन होने पर पुत्र सुनेरसिंह धाकड़ (वकील साहब) सागौर (धार) द्वारा माँ…

और पढो...
श्रेयश दादुरिया किराड़
Posted in Information inspirational Prizes

श्रेयश दादुरिया किराड़ को 10 वीं सीबीएसई में 95 प्रतिशत अंक

नागपुर. मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती और अपने उद्देश्यों के प्रति अटल रहने वाले विद्यार्थियों को साधन अभावों में भी पढ़ाई के लिए…

और पढो...
Posted in History Information

RIP की फुल फॉर्म क्या होता है?

RIP या R.I.P संस्कृति इस मोबाइल जनरेशन की एक सबसे बड़ी नासमझी या कॉपी-पेस्ट संस्कृति का परिणाम है। RIP कब कहते है? किसी की मृत्यु…

और पढो...
Posted in Information

हमारा समाज और हम

हमारा समाज एक कृषि प्रधान समाज है, किराड़ किरात किरार समाज की ८०% आबादी गाँव देहातों में बसती हैं, उनके जीवन-यापन का आधार कृषि है…

और पढो...